22 फ़रवरी 2018

चलिए, एक और भी स्मार्ट दुनिया बनाते हैं, मगर सादगी के साथ

 चलिए, एक और भी स्मार्ट दुनिया बनाते हैं, मगर सादगी के साथ



दुनिया दिन प्रतिदिन और भी स्मार्ट होती जा रही है किंतु स्मार्ट कुछ आसान,  प्रभावशाली क्यों नही हो सकता? हमें बस थोड़ी सी हमदर्दी, और थोड़ी सी जिज्ञासा की ज़रूरत है वहाँ पहुँचने के लिए, ग़ौर से देखने के लिए पर वहाँ रुकना नहीं हैं चलिए, हम सब इन जटिल मसलों को ढूँढ़ते हैं इनसे डरिए मत उन्हें छोटी-छोटी समस्याओं में तोड़ दीजिए और उनके लिए सरल उपाय ढूँढिए उन उपायों को परखना, ज़रूरत पड़े तो नाकामयाब ही क्यों न हो जाना पर नए नज़रिए के साथ, उसे बेहतर करने के लिए ज़रा सोचिए, अगर हम सब आसान उपाय ढूँढ लाए, तो हम क्या-क्या कर सकते हैं कैसी होती यह दुनिया अगर हम अपने सारे आसान उपायों को इकट्ठा करते ?

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें