6 मार्च 2013

नेपोलियन ने दुनिया को एक गणित सिखाया है ----



ज्यादातर लोग भय के कारण किसी भी कार्य में बहुत लंबा समय ले लेते है .या तो वे ज्यादा अच्छे परिस्थिति या ज्यादा पैसे आने का इंतजार करते है .आपको इसके ठीक विपरीत करना है और जब तक आप इंतजार करे की पूरी तैयारी हो गयी है उसके पहले ही चलना शुरू कर दे .आप स्वयं अपने लिये थोड़ी कठिनाई और चैलेन्ज वाला रास्ता चुनिये .आप देखेंगे की आगे आपकी उर्जा और शक्ति समय के साथ चुनौती के स्तर तक बढ जाएगी और यही शक्ति का राज है .आप यह जानते रहेंगे की आप पूरी तरह तैयार नहीं है तो आप ज्यादा inventive और सतर्क रहेंगे .और अंत में आप सफल ही होंगे .



यही प्राचीन से वर्तमान के इतिहास में दर्ज सफल लोगों ने किया है .जब जूलियस सीजर को अपने जीवन का सबसे महानतम निर्णय लेना था की--- क्या पाम्पे के खिलाफ जाए और गृह यद्ध की शुरुआत करे या फिर और बेहतर समय का इंतजार करे --वह इटली और गौल की सीमा पर रुबिकान नदी के किनारे एक छोटी से सेना के साथ था .उसने छोटी सी सेना को अपने महान इरादे और रण नीतिक कौशल से महान शक्ति में परिवर्तित कर दिया .उसने रुबिकान को पार करके ,शत्रुओं को अचंभित कर दिया और फिर उसने कभी मुड़ कर नहीं देखा .





बराक ओबामा को 2006 में प्रेजिडेंट चुनाव के लिये लगभग सभी लोगों ने नहीं खड़ा होने की सलाह दी और सही वक्त का इंतजार करने को कहा . उनकी उम्र कम थी और ज्यादातर लोगों के लिये वो नये थे .हिलेरी क्लिंटन पूरे परिदृश्य में छाई हुई थी .उन्होने पारंपरिक धारणा के बजाय चुनाव में खड़ा होने का निर्णय लिया .अब जबकि सारी स्थितियां और लोग उनके खिलाफ थे तो उन सबको campansate करने के लिये उनको ज्यादा साहस, ज्यादा उर्जा ,ज्यादा तेज रणनीति और ज्यादा संगठित होकर काम करना था .उन्होने इस मौके पर इतना शानदार campaign किया और अपनी सारी कमियों को अपनी शक्ति में बदल दिया ---जैसे अनुभव की कमी को लोगों ने नयापन और परिवर्तन के रूप में लिया . 







नेपोलियन ने दुनिया को एक गणित सिखाया की कैसे सेना की शक्ति को तीन गुना बढाया जा सकता है ---वह है आप और आपकी सेना की उर्जा और प्रेरणा उसकी पूरी ताकत को तीन गुना बढ़ा देती है और आप अपने से तीन गुना ज्यादा ताकतवर सेना को हरा सकते है .व्यक्ति अपने साहस ,उर्जा और रणनीति से जीवन के लगभग सभी बधाओं और समस्याओं पर विजय पा सकता है और नामुमकिन स्थितियों से भी नई सफलता के आयाम गढ़ सकता है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें