14 मई 2011

धोनी ने बुलेट शाट मारा गांगुली ने शानदार पारी खेली

डॉ सत्यजित साहू गुरुदेव स्वामी चिन्मय योगी जी के साथ 
ध्यान केंद्र में हेमंत और उसके मित्र आये हुवे है .हेमंत के मित्र के सस्थ गुरुदेव ने चर्चा की साथ ही उसको उसके जीवन के संदर्भ में कई प्रकार जरुरी मार्गदर्शन  भी किया .हेमंत जीवन की उत्पत्ति  और भावदशा के बारे में गुरुदेव से पुछा रहे है .गुरुदेव ने कहा की जीवन पहले से ही था और रहेगा यह बनाया नहीं गया  है और विनष्ट नहीं हो सकता .समझाने के लिए कई प्रकार से ऋषियों ने बाते कही है .

प्रारब्ध नियति और तथाता के बारे में गुरुदेव हेमंत को बता रहे है .चूँकि हेमंत की शादी अभी ३५  वर्ष  तक नहीं हुई है इसलिये उसकी पिछले डेढ़ साल से शादी की उत्सुकता बहुत बढ गई है पर कही भी सही तरह से बात नहीं बन रही है .और कई जगह तो कुंडली भी कारण बन गई है .हेमंत के घर वाले कुंडली को नहीं तरजीह देते इसलिये गुरुदेव उसको समझा रहे है " शादी इस प्रकट की नियति है की जन्म के पहले ही तय हो जाती है की इसका विवाह इससे होगा .इसको कुंडली देखो या नहीं देखो वही होता है .मेरी खुद की शादी कुंडली देखा कर की गई थी  पर तब भी पहली पत्नी के इक वर्ष में ही देहांत हो गया .कुंडली को पूरी तरह से ज्योतिषी नहीं पढ़  सकते है .तू कुंडली देखे या ना देखे तेरे प्रारब्ध में अच्छी शादी  का योग नहीं है तो बहुत अच्छा नहीं  हो सकता ."
गुरुदेव स्वामी चिन्मय योगी 

इसी बीच पिंकू आ गया .गुरुदेव ने मजाक में कहा   "पिंकू चार दिन से नहीं दिखा तो चिंता के मारे मेरी तबियत ख़राब हो गई है .पिंकू तू बता की  
तू ज्वाइन की की नहीं "
"जी गुरुदेव आपने जिस दिन का बोला था उसी दिन ज्वाइन हुआ .मैने तो आपके बोले दिन के इक हफ्ते पहले का सोचा था इसलिये मुझको चिंता हो गई थी ." पिंकू ने कहा .
इस पर गुरुदेव ने कहा " मैने अपने इनटूयसन( ईण्टूटीण) से यह कहा था और मेरा अनुभव है की मेरा इनटूयसन कभी गलत नहीं होता है. यह गुरु के द्वारा भेजा गया विशेष ज्ञान है "
  और भी बातचीत गुरुदेव कर रहे थे . इसी बीच आई पी एल की बात शुरू हो गई .उसमे बात चली गांगुली के कम बेक पारी की .पिंकू ने कहा "क्या शानदार पारी खेली दादा ने .उतरते सस्थ ही पहली बार उसने डेल स्टेन की बाल को फेस  किया . बहुत करारे शाट उसको लगाये .अमित मिश्रा को शानदार छक्का लगाया ."
मैने मैच नहीं देखा तो तो और उत्सुकता से पुछा.
गुरुदेव ने कहा " गांगुली ने दिखाया की सिनिअर का क्या रोल है .वह बहुत संभल कर खेला .इक साइड विकेट बचा कर अंत तक खेला तभी उसकी टीम जीत पाई  "
पिंकू बोलने लगा ".टीम की बेंच और सहारा की सभी लोग जीत पर  उछल पडे और गांगुली के खेल पर  सारे दर्शक बहुत  प्रसन्न हुये .इक फैन  तो कूद कर पिच पर जाकर  गांगुली को प्रणाम कर आया. "
गुरुदेव ने भी कहा " आज धोनी भी जबरदस्त खेला .तूफानी पारी खेल कर  ३० बाल में ६६ रन बना दिये ."
मैने पूछा ." हेलीकाप्टर शाट मारा क्या ?"
"अरे आज तो बुलेट शाट मारा "गुरुदेव ने कहा .
.'क्या तेजी से उसका शाट पड़ रहा था .बाल गोली की रफ़्तार से जा रही थी " पिंकू ने बताया .
अमित रितुल पिंकू 


इसी बीच हेमंत औत मित्र चले गये .और राहुल आ गया .
गुरुदेव ने कहा "देखा कोई आता है और कोई जाता है .इसी तरह आना जाना बना रहता है "


आज अमित गुरुदेव के पसंद की मुंग की मिठाई लाया है .गुरुदेव ने कहा " यह मिठाई विशेष कर अमित ही लाता है . यह मुझे बहुत प्रिय है .मै चमचम खा कर बोर हो गया था आजजब मरी मिठाई ख़त्म हुई तो मैने मन ही मन अमित को याद करके सोचा   की उसको बोलूंगा तो देखा की अमित यही मिठाई ले कर खुद ही आया है ."
अमित ने कहा " मुझको इनटूयसन हुआ तभी गुरुदेव के घर  के सामने  आकर भी पुनः मै यही मिठाई खरीदने गया और लाया "
मैने कहा " वह अमित तू तो बहुत बढ़िया इनटूयसन को रिसीव कर रहा है .पर तेरी मोटी खोपड़ी में यह सूक्ष्म इनटूयसन कैसे गुसा "
अमित ने मुस्कुराते हुवे कहा " क्यों नहीं घुसेगा . आज कल हमारी भी बहुत प्रगति हो गयी है '
इसी पर गुरुदेव ने कहा " घुसेगा  कैसे नहीं .....घुसाने वाला कौन है .  जब गुरुदेव स्वयं  घुसाने  वाला है तो इनटूयसन घुसेगा ही "
सब यह दुनकर बहुत आनंदित हुवे .



सत्संग मंडली 
राहुल से भावदशा और समर्पण की विषय में चर्चा हुई .


गुरुवार की पूजा हुई. सबने गुरुदेव से प्रसाद प्राप्त  लिया 
गुरुवार की रात को  इस्ट  देव साईं बाबा  और महागुरु नर्मदा बाबा की पूजा का नित्य क्रम पिछले दो साल से ध्यान केंद्र में नियमित चला आ रहा है .गुरुदेव ने इस क्रम को शुरू करने के लिये कहा और सब ही गुरुभाइयों ने इसे उत्साह के साथ किया .गुरुदेव ने कहा था की तुम लोग वैदिक की पूजा तो  नियमित करते  ही हो पर  तुम लोग हड्डी बाबा की सीधे  तो पूजा नहीं कर सकते पर उनके गुरु महाराज   नर्मदा बाबा की पूजा कर लेने से हड्डी बाबा की पूजा स्वत ही हो जाती है .इसलिए इस्ट की पूजा के दिन नर्मदा बाबा की पूजा भी साथ में करो तो तुम लोगों को बहुत लाभ होगा .