9 फ़रवरी 2010

8 घंटे में 8 साल के पाइल्स का दर्द ठीक हुआ


मेरे दोस्त और गुरुभाई डाक्टर अनिल वास्ती 8 साल से क्रोनिक पाइल्स और फिशर से पीड़ित है .अनिल की समस्या कई महीनों से लगातार बढती ही जा रही है .


उसको साथ में और भी कई बीमारी है इस कारण से पाइल्स की  बीमारी की तकलीफ जादा ही होती है .पहले उसको महीने में 3 या 4 दिन तकलीफ होती थी जो बढकर अब महीने के 20 दिन तक हो गई है .अनिल एक स्तिथी में 10 मिनट से जादा बैठ नहीं पाता. डाक्टर अनिल शहर में अच्छी सोनोग्राफी की प्रक्टिस करते है और बहुत अच्छा कमाते है .अनिल ने अपना इलाज दिल्ली से लेकर रायपुर तक कई एलोपथी ,होमियो, आयुर्वेद के डाक्टरों को दिखाया पर बीमारी ठीक होना तो दूर ,दर्द भी ठीक तरीके से गया नहीं.जैसे तैसे करके डाक्टर साहब अपने इस बीमारी को कम ज्यादा करके अपने जीवन को चला रहे है.

अनिल की तकलीफ को देखकर गुरुदेव जी ने कहा की तुम लोग (मै ,हेमंत,गप्पू )तो साबर की सिद्धि कर लिए हो तो पाइल्स के लिए अपनी साबर क्रिया को अनिल के उपचार के लिए करो . हम लोग ने उसी दिन रात को अपनी झाड़ फुक की क्रिया अनिल के ऊपर की .अगले दिन सुबह ९ बजे अनिल का फोन आया की उसको जो फायदा मिला वो चमत्कारिक है .उसे ये बात गुरुदेव को ,मुझको ,गप्पू को तुरंत फोन पर बताई .सुबह जब  अनिल शौच के लिए बैठा तब उसको दर्द बिलकुल नहीं हुआ .उसने  अपनी उंगली अन्दर डाल के चेक किया तो अन्दर 90 % बीमारी ठीक हो गयी थी .अनिल इतना खुश हुआ की बोला वो अपने को 8 साल पहले जैसा महसूस कर रहा है

गुरुदेव जी से जब हम मिले तो उन्होंने कहा की तुम लोगों ने  पूरे विधान से साधना की जिससे तुमको सिद्धि मिल गयी है .इसका प्रमाण है की अनिल की बीमारी में 8 घंटे में ही पाइल्स का दर्द पूरी तरह ठीक हो गया और 90 % बीमारी ठीक हो गयी.अनिल को इस क्रिया को लगातार करते रहना पड़ेगा और परहेज और दवा जारी रखकर बीमारी को पूरी तरह से ठीक करना होगा तभी साबर की क्रिया का पूरा लाभ वो ले पायेगा .

जय गुरु महाराज की जय ,जय भैरवी माता की जय